Translate

Sunday, June 19, 2011

चित्रकार शौन टैन आलमा (Astrid Lindgren Memorial Award) पुरस्कार से सम्मानित


पिछले महीने आस्ट्रेलिया के युवा चित्रकार शौन टैन (Shaun Tan ) को स्वीडन के स्टॉकहोम कंसर्ट हाल में आलमा (Astrid Lindgren Memorial Award) पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इस पुरस्कार की राशि ५ मिलियन स्वीडिश क्रोन (लगभग ७५०,००० यू.एस.डॉलर) है. राशि के लिहाज़ से बाल एवं युवा साहित्य के लिए विश्व भर में दिए जाने वाले सभी पुरस्कारों में यह पुरस्कार सबसे बड़ा है.

३७ वर्षीय शौन टैन (Shaun Tan ) फ्रीलांस चित्रकार हैं और उन्होंने २० से ज्यादा पुस्तकों का चित्रांकन किया है. “द एराइवल” उनकी सबसे ज्यादा चर्चित शब्द रहित पुस्तक है जिसने सारी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है और उस पर एनिमेशन फिल्म भी बन चुकी है. लेखक, चित्रकार होने के अलावा शौन टैन (Shaun Tan ) फिल्मकार भी हैं और उनकी लघु फिल्म “द लोस्ट थिंग” को सर्वश्रेष्ठ एनीमेटड फिल्म की श्रेणी में ऑस्कर एकेडेमी पुरस्कार मिल चुका है. शौन टैन (Shaun Tan ) ज्यादार अपनी चित्र-पुस्तकों (Picture books) के लिए विख्यात हैं और उनकी कूची शब्दों से कहीं ज्यादा बोलती है.

शौन टैन (Shaun Tan ) की ख्याति और उनके सम्मान को देखते हुए कम से कम यह आशा तो की ही जानी चाहिए कि भारत में उन चित्रकारों की चिंताजनक स्थिति पर गंभीरता से गौर फ़रमाया जाए जों पुस्तकों के लिए मुश्किल से ३०० से ५०० रुपये प्रति चित्र का पारिश्रमिक पाते हैं और जिनका पुस्तक के प्रकाशकीय विवरण में कहीं नाम तक दर्ज नहीं होता.

1 comment: