Translate

Friday, October 19, 2012

स्टीव स्मिथ का एक प्यारा-सा बाल गीत -परी कथा


स्टीव स्मिथ ( 1902-1971) अंग्रेजी की सुविख्यात लेखिका एवं कवियत्री थीं. उनका वास्तविक नाम फ्लोरेंस मारग्रेट स्मिथ था. उन्होंने उपन्यास भी लिखे और कविताएं  भी . उनकी एक बाल कविता 'The Kingfisher Book of Children's Poetry' से यहां साभार दी जारही है और उसका मेरे द्वारा किया गया हिंदी रूपांतर भी दिया जा रहा है जो हिंदी भाषी बच्चों को रोचक और पठनीय लगेगा, ऐसी आशा है. कवियत्री का परिचय विकिपीडिया पर मौजूद है जिसकी , सन्दर्भ के लिए, लिंक भी नीचे दी जा रही है. यह एक गैरव्यावसायिक बिना किसी लाभ का मेरा  व्यक्तिगत प्रयास है जो हिंदी भाषी बच्चों को विदेशी साहित्य से परिचित करने के लिए किया जा रहा है. आशा है इस रचना के स्वत्वाधिकार स्वामी इस प्रयास को इसी परिप्रेक्ष्य में ग्रहण करेंगे.


FAIRY STORY

By -STEVIE SMITH 


I went into the wood one day
And there I walked and lost my way

When it was so dark I could not see
A little creature came to me

He said if I would sing a song
The time would not be very long

But first I must let him hold my hand tight
Or else the wood would give me a fright

I sang a song, he let me go
But now I am home again there is nobody I know


(Courtesy-The Kingfisher Book of Children's Poetry)




परी कथा 

-स्टीव मिथ 

एक दिन की बात 
मैं जंगल में गया घूमने
आगे चला तो 
रास्ता लगा भूलने
धीरे-धीरे बढ़ने लगा 
अंधेरे का साया , 
आस-पास मुझे 
कुछ नज़र न आया
तभी एक प्राणी 
मेरे नज़दीक आया
बोला -'यदि तुम गाना गाते चलो
तो रास्ता चुटकी में कटेगा
समय का तुम्हें 
कुछ पता नहीं चलेगा' '
मैंने कहा उससे-पहले रखो मेरा हाथ 
अच्छी तरह पकडकर,
अंधेरे में जंगल से 
लगता है मुझे डर'
गाने गाते-गाते 
घर तक मै आ गया 
वह भला प्राणी 
पहुंचाकर चला गया
लेकिन अब मैं हूं यहां 
निपट अकेला 
न कोई दोस्त है 
न कोई मेला.

हिंदी रूपांतर-रमेश तैलंग
19-10-2012 



For further details about the poetess: Please go this link:

http://en.wikipedia.org/wiki/Stevie_Smith

No comments:

Post a Comment